in

उत्तरप्रदेश का एक ऐसा गांव जहां नहीं मनाया जाता रक्षाबंधन, जानिए क्या है इसके पीछे की कहानी

भारत देश एक त्योहारों वाला देश है। यहां पर हर धर्म जाति के लोग अपना अपना त्योहार मनाते हैं। जिसमें होली,दीपावली,रक्षाबंधन आदि शामिल हैं। यदि हम बात करें इसी अगस्त महीने की तो कई दिनों से एक ओर आजादी के उत्सव स्वतंत्रता दिवस की तैयारी चल रही है तो वहीं दूसरी तरफ भाई बहन के पवित्र रिश्तों के पर्व रक्षा बंधन भी धूम धाम से मनाया जा रहा है।

हर वर्ष भाई–बहनों के पवित्र रिश्तों का त्योहार रक्षाबंधन बड़ी धूम धाम से पूरे देश में मनाया जाता है। लेकिन उत्तरप्रदेश के संभल में एक बेनीपुरचक नामक गांव भी है जहां पर रक्षाबंधन का त्योहार नहीं मनाया जाता है। यहां पर रक्षाबंधन के दिन भाई की कलाई सूनी रहती है न बहन भाई को राखी बांधती है और न ही भाई बहन से राखी बंधवाता है। यहां रक्षाबंधन न मनाए जाने के पीछे एक बहुत ही दिलचस्प कहानी है।

इस गांव के लोग रक्षाबंधन का त्योहार न मनाए जाने के पीछे एक लंबी कहानी बताते हैं इस गांव में अधिकतर यादव जाति के लोग निवास करते हैं। इस गांव के लोगों के पूर्वज मूलरूप से अलीगढ़ जिले के सिमरई गांव के निवासी थे। किंवदंती के मुताबिक इस गांव में यादव तथा ठाकुर जाति के लोग एक साथ आपसी प्रेम तथा भाईचारे के साथ निवास करते थे। इस गांव के लोगों द्वारा बताई गई कहानी के अनुसार रक्षाबंधन वाले दिन यादव जाति की लड़की ने अपने रिश्तों में मुंहबोले ठाकुर जाति के लड़के को राखी बांधी थी तथा उपहार में घोड़ा ले लिया था।

वहीं दूसरी ओर इस गांव में एक ठाकुर जाति की लड़की ने यादव जाति के लड़के को राखी बांधी और उपहार में पूरा सिमरई गांव मांगा था। इसीलिए यादव जाति के लड़के ने अपनी जमींदारी का पूरा गांव राखी बांधने वाली मुंह बोली बहन को दे दिया था। जैसा कि पूरा गांव उपहार स्वरूप मूंहबोली बहन को दिया जा चुका था और उपहार स्वरूप दी हुई चीज पर अपना कोई हक नहीं बचता जिसके बाद सिमरई गांव के यह सभी लोग बेनीपुर चक नामक गांव में आकर बस गए।

इसी को देखते हुए राखी बांधने के बदले में कोई अब उपहार स्वरूप संपत्ति न मांग ले इसी कारण इस गांव के लोग रक्षाबंधन का त्योहार नहीं मनाते। यहां तक कि यहां ये भी रिवाज है कि विवाह के बाद गांव आई दुल्हन भी मायके राखी बांधने नहीं जा सकती।

 

 

 

Written by Rishabh Patel

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Loading…

0

Sarkari Naukri 2022: इस राज्य में निकली हैं फार्मासिस्ट के पदों पर बंपर भर्तियां, मिलेगी 1,12,000 रू. तक सैलरी

UPPCL Recruitment 2022: बिजली विभाग में निकली कंप्यूटर सहायक पदों पर भर्तियां, मिलेगी 81,000 रुपए तक सैलरी, ऐसे करें आवेदन