in

Success Story: एक ऐसे कुली की कहानी , जिसने रेलवे स्टेशन के Free WiFi से पढ़कर लहरा दिया यूपीएससी में परचम

Success Story: एक ऐसे कुली की कहानी , जिसने रेलवे स्टेशन के Free WiFi से पढ़कर लहरा दिया यूपीएससी में परचम

वो कहते हैं न कि “उड़ान पंखों से नहीं हौसलों से होती है।” ये लाइन इस युवा पर बिल्कुल चरितार्थ होती है। जिसकी सफलता की कहानी आज हम आपको बताने जा रहे हैं उस व्यक्ति का नाम श्रीनाथ है जो कि मूल रूप से केरल के निवासी हैं। इन्होंने घर की जिम्मेदारियों को संभालने के साथ साथ पढ़ाई भी की , एर्नाकुलम स्टेशन पर कुली के रूप में काम भी किया और अपने कठिन मेहनत और संघर्ष से अपना भाग्य खुद ही बदल डाला तथा आईएएस बनकर लहरा दिया यूपीएससी परीक्षा में परचम । कुछ वर्षों तक कुली का काम करने वाले इस व्यक्ति ने यूपीएससी परीक्षा को उत्तीर्ण करके इस दुनिया में सफलता की एक नई मिसाल कायम की है। 

 

कामयाबी के रास्ते में कभी भी संसाधनों की कमियों को नहीं बनने दी रुकावट

इस दुनिया में आपने तरह तरह को ऐसे लोगों को देखा होगा जो अपने जीवन में सफल न होने पर कई तरह की शिकायते करते मिल जाएंगे। अधिकतर लोग तो जीवन में असफल होने का कारण तो जीवन में संसाधनों की कमी को बताते हुए दिख जाएंगे। उनके अनुसार यदि जीवन में उन्हें सुख-सुविधा से पूर्ण भिन्न भिन्न तरह के संसाधन मिल जाते तो वो भी अपने जीवन में कुछ अच्छा कर सकते थे । लेकिन श्रीनाथ को अपने जीवन में कभी भी किसी चीज से शिकायत नहीं रही। उनको संसाधन मिलने या न मिलने का कोई फर्क नही पड़ा। उन्होंने अपनी कठिन मेहनत के बल पर यूपीएससी परीक्षा पास करके एक नया मुकाम हासिल किया । उन्होंने अपनी कामयाबी के रास्ते में कभी भी संसाधनों की कमी को रुकावट नही आने दिया।

 

कोचिंग किए बिना पास की यूपीएससी की परीक्षा

यूपीएससी (Union Public Service Commission) की परीक्षा में प्रत्येक वर्ष लाखों लोग बैठते हैं और इसमें से कुछ ही उत्तीर्ण कर पाते हैं। अभ्यर्थी इस परीक्षा को पास करने के लिए भिन्न भिन्न कोचिंग संस्थाओं में प्रवेश लेते हैं जिसके लिए वो लोग एक मोटी रकम भी खर्च करते हैं। परंतु श्रीनाथ ने यूपीएससी परीक्षा को पास करने के लिए किसी का कोचिंग का सहारा नहीं लिया। इन्होंने रेलवे स्टेशन पर कुली का काम करते हुए न केवल यूपीएससी की परीक्षा उत्तीर्ण की बल्कि इसके अलावा इससे पहले वह केरल पब्लिक सर्विस कमीशन की परीक्षा को भी पास कर चुके हैं।

 

रेलवे स्टेशन पर कुली का काम करते हुए रेलवे के निशुल्क WiFi का किया सही उपयोग

श्रीनाथ यूपीएससी की कोचिंग सेंटर की फीस भरने में असमर्थ थे इसलिए इन्होंने कोई कोचिंग ज्वाइन नही की ।  कोचिंग न कर पाने के कारण उनके मन में यह बात बैठ गई थी कि कोचिंग किए बिना क्या वह इस कठिन परीक्षा को उत्तीर्ण कर पाएंगे। इसी वजह से उन्होंने केपीएससी यानी की केरल पब्लिक सर्विस कमीशन की तैयारी करनी प्रारंभ कर दी। उन्होंने इस कठिन परीक्षा को उत्तीर्ण करने के लिए रेलवे स्टेशन पर लगे Free WiFi का सहारा लिया । इस फ्री Wifi की सहायता से उन्होंने अपने फोन पर पढाई की।

रेलवे का यह Free Wifi  उनके लिए ईश्वर द्वारा दिए गए किसी वरदान से कम नहीं था। रेलवे स्टेशन पर कुली का काम करते करते जब भी उन्हें खाली समय मिलता था तो वो इस खाली समय में ऑनलाइन लेक्चर वीडियो द्वारा पढ़ाई करने लगते थे। अपनी इस कठिन मेहनत ,लगन और संघर्ष के दम पर ही श्रीनाथ ने केपीएससी की परीक्षा उत्तीर्ण की। केपीएससी की परीक्षा उत्तीर्ण करने के पश्चात उनके मन में और आत्मविश्वास आ गया उन्होंने सोचा जब ऐसे करके वह इस परीक्षा को उत्तीर्ण कर सकते हैं तो यूपीएससी क्यों नहीं। इसी के बाद से ही उन्होंने फ्री Wifi की सहायता से यूपीएससी के लिए पढ़ना शुरू कर दिया तथा बाद में यूपीएससी में भी सफलता प्राप्त की।

Written by AU Beat Media

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Loading…

0

UGC ने इस विश्वविद्यालय को बताया फर्जी व अमान्य, छात्रों को एडमिशन लेने से किया मना

Sarkari Naukri 2022: सुपरवाइजर, टेक्निशियन सहित इन पदों पर निकली भर्तियां, जल्दी करें आवेदन