in

Allahabad university : एक ही बार एडमिशन लेने पर अब मिलेगी MSc और PhD की डिग्री

 

अब इलाहाबाद विश्वविद्यालय में पीएचडी करने के लिए छात्रों को अलग-अलग एडमिशन नहीं लेने की जरूरत होगी।
इलाहाबाद विश्वविद्यालय में अब छात्र अब एक बार में M.Sc में एडमिशन लेने के बाद P.hd तक की पढ़ाई कर सुचारू रूप से कर सकेंगे । इलाहाबाद विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा पांच वर्षीय M.Sc-P.hd के तीन पाठ्यक्रम की शुरुआत की जाएगी । इविवि में पाठ्यक्रम को शुरू करने के लिए एकेडमिक काउंसिल द्वारा मंजूरी प्राप्त हो गई है। प्रत्येक पाठ्यक्रम में 20-20 सीटों के लिए प्रवेश होगा। कॉग्निटिव साइंस ज्वाइंट इंट्रेस के द्वारा इन पाठ्यक्रमो में एडमिशन होगा। M.sc दो साल में करने पर तथा पांच साल की पढ़ाई पूरी करने पर पीएचडी की डिग्री प्राप्त होगी।

फरवरी 2023 से M.Sc-P.hd कॉग्निटिव साइंस में 20 सीटों में प्रवेश की शुरुआत होगी । छात्रों को पहले वर्ष में सर्टिफिकेट इन कॉग्निटिव साइंस, दूसरे वर्ष में एमएससी इन कॉग्निटिव साइंस और पांचवे वर्ष में पढ़ाई पूरी करने पर पीएचडी इन कॉग्निटिव साइंस की डिग्री प्राप्त होगी । इसी तरह से 20 सीटों पर एमएससी-पीएचडी इन ह्यूमन कंप्यूटर इंटरेक्शन में दाखिला मिलेगा । इसमें पहले वर्ष में सर्टिफिकेट इन ह्यूमन कंप्यूटर इंटरेक्शन, दूसरे वर्ष में एमएससी इन ह्यूमन कंप्यूटर इंटरेक्शन तथा पांचवे वर्ष में पीएचडी इन ह्यूमन कंप्यूटर इंटरेक्शन की डिग्री प्राप्त होगी।

इसी प्रकार फाइव ईयर इटीग्रेटेड एमएससी-पीएचडी कॉग्निटिव एंड क्लिनिकल न्यूरोसाइकोलॉजी में भी 20 सीटों पर दाखिला लिया जाएगा। इस पाठ्यक्रम में प्पहले वर्ष में सर्टिफिकेट इन कॉग्निटिव एंड क्लिनिकल न्यूरोसाइकोलॉजी, द्वितीय वर्ष में एमएससी इन कॉग्निटिव एंड क्लिनिकल न्यूरोसाइकोलॉजी तथा पांचवे वर्ष में पीएचडी इन कॉग्निटिव एंड क्लिनिकल न्यूरोसाइकोलॉजी की डिग्री प्राप्त होगी।

Written by AU Beat Media

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Loading…

0
CUET 2022

CUET UG 2022 Admit Card: जानिए कब जारी होगा सीयूईटी प्रवेश परीक्षा के लिए एडमिट कार्ड

Khabar Jara Hatke : सोते समय देखा करोड़पति बनने का सपना, लगी लॉटरी और बन गया करोड़पति