in

वाइस चांसलर संगीता श्रीवास्तव ने कहा ‘छात्रावास छोड़ो वरना नहीं मिलेगी डिग्री’

इलाहाबाद विश्वविद्यालय (इविवि) के हॉस्टल में इविवि प्रशासन की अनुमति के बगैर रह रहे छात्रों ने अगर हॉस्टल का कमरा नहीं खाली किया तो उनकी डिग्री रोकी जा सकती है या अन्य अनुशासनात्मक कार्रवाई भी हो सकती है। इस बारे में डीएसडब्ल्यू ने सभी हॉस्टलों के अधीक्षकों को पत्र जारी करे हुए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए हैं। यह कार्रवाई उनके छात्रों के खिलाफ भी होगी, जो कोरोना संक्रमण काल में जिला प्रशासन की ओर से साधन उपलब्ध कराए जाने के बावजूद हॉस्टल छोड़कर नहीं गए और अब तक हॉस्टल में ही रह रहे हैं। अधीक्षकों से कहा गया है कि ऐसे सभी छात्रों को चिह्नित कर उनकी सूची तैयार कर ली जाए। यह सूची कुलपति को भेजी जाएगी। इलाहाबाद विश्वविद्यालय प्रशासन ने बिना इजाजत हॉस्टलों में रह रहे अंत:वासियों को तीन दिनों के भीतर यानी एक फरवरी तक छात्रावास खाली करने को कहा है। प्रशासन ने सभी हॉस्टलों को खाली करा लिया था। बाद में कुछ छात्र-छात्राएं प्रतियोगी परीक्षा या पढ़ाई बाधित होने की वजह से विश्वविद्यालय प्रशासन की अनुमति के बगैर हॉस्टल में आकर रहने लगे। इस बात की सूचना मिली तो सात जनवरी को कुलपति प्रो. संगीता श्रीवास्तव ने डीएसडब्ल्यू और सभी हॉस्टलों के अधीक्षकों की बैठक बुलाई और बगैर अनुमति हॉस्टल में रहने वाले छात्रों को अवैध करार देते हुए उन्हें तत्काल हॉस्टल खाली करने के निर्देश दिए।

Hindu Hostel, Allahabad University

इसी क्रम में रजिस्ट्रार प्रो. एनके शुक्ल ने नोटिफिकेशन जारी कर ऐसे अंत:वासियों से पांच गुना जुर्माना वसूलने के निर्देश दिए। इससे भी बात नहीं बनी और हॉस्टल खाली नहीं हुए।

इविवि प्रशासन ने हॉस्टल खाली कराने का नया दाव चला है। इविवि से संबद्ध सभी हॉस्टलों के अधीक्षक, संरक्षक और वार्डेन को पत्र भेजकर कहा गया है कि इस आशय की सूचना अंत:वासियों के अभिभावकों को पत्र के जरिए दी जाए। इविवि प्रशासन के इस प्रयास को छात्रों पर दबाव बनाने की एक और कोशिश के तौर पर देखा जा रहा है। अंत:वासियों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई का डंडा यदि प्रभावी साबित नहीं हुआ तो अभिभावकों का दबाव शायद काम कर जाए और अंत:वासी छात्रावास खाली कर दें।

Jaya Kapoor, PRO – Allahabad University

इलाहाबाद विश्वविद्यालय के पीआरओ डॉ. जया कपूर ने कहा कि ‘सात जनवरी को हुई बैठक के निर्णय का अनुपालन न करने पर उन छात्रों पर अनुशासनात्मक कार्रवाई होगी, जो इविवि प्रशासन की अनुमति के बगैर हॉस्टल में रह रहे हैं। इस बारे में डीएसडब्ल्यू की ओर से कार्यालय आदेश जारी किया गया है।’

Written by AU Beat Media

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Loading…

0

उत्तरप्रदेश में 23 नवम्बर से खुलेंगे विश्वविद्यालय, दिशा-निर्देश जारी

इविवि ऑनलाइन मोड में कराएगा परीक्षा, जानिए विस्तार से