in

यूपी बी.एड की परीक्षा तिथि आने के बाद इविवि छात्रसंघ पर छात्रों का काली पट्टी बांधकर विरोध

जब पूरा देश कोरोना महामारी से जूझ रहा है इसी बीच 27 जुलाई शाम उत्तर प्रदेश बीएड प्रवेश परीक्षा की एडमिट कार्ड इस वर्ष के आयोजक लखनऊ विश्वविद्यालय द्वारा जारी कर दी गयी हैं। इसकी सूचना मिलते ही छात्रों ने इसका विरोध शुरू कर दिया हैं और लगातार उत्तर प्रदेश सरकार व संबंधित विभाग को सोशल मीडिया पर लिखकर अपना विरोध दर्ज करा रहें हैं।

काली पट्टी बांधकर छात्रसंघ पर प्रदर्शन:

आज इसी को लेकर इलाहाबाद विश्वविद्यालय छात्रसंघ भवन पर छात्र संघ उपाध्यक्ष अखिलेश यादव के साथ परीक्षार्थियों व एनएसयूआई के सदस्यों ने मुंह पर काली पट्टी बांधकर इस वैश्विक महामारी में परीक्षा आयोजित कराए जाने का विरोध दर्ज कराया है।

इलाहाबाद विश्वविद्यालय के छात्रसंघ उपाध्यक्ष अखिलेश यादव ने अपना विरोध दर्ज कराते हुए कहा कि एकतरफ जहाँ लगातार कोरोना के मामले बढ़ रहें हैं। सभी लोग बाहर निकलने से कतरा रहें हैं,ऐसे में सरकार के द्वारा 9 अगस्त को परीक्षा तिथि घोषित करने को लेकर छात्रों में काफी गुस्सा है, तकरीबन सैकड़ों से ऊपर परीक्षार्थी हमसे संपर्क कर चुके हैं ऐसे समय में सरकार का यह फैसला दुर्भाग्यपूर्ण है और छात्रों को इस महामारी में जानबूझकर झोंकने के बराबर है।

एग्जाम सेंटर दूर मिलने से छात्र परेशान:

यूपी बीएड के कई छात्रों के सेंटर उनके जिले से सैकड़ों किलोमीटर दूर है ऐसे में यातायात व परिवहन को लेकर काफी समस्या हो रही है,ऐसे समय में जहाँ किसी भी यातायात का नियमित संचालन नहीं हो रहा हैं छात्रों के लिए यह बड़ी परेशानी हैं।

प्रदर्शन में आए परीक्षार्थियों की मांग है कि आयोजक व विभाग को पुनः मूल्यांकन करना चाहिए,क्योंकि ऐसे कई मामले आ रहें हैं जहाँ परीक्षा केन्द्र पर भी छात्र संक्रमित पाएँ गए हैं। ऐसे में सरकार को एहतियात के तौर पर परीक्षा को स्थगित कर संक्रमण के अवसर को उत्पन्न होने से रोकना चाहिए।

Written by AU Beat Media

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Loading…

0

इलाहाबाद ब्लूज: युवाओं के सपनों के संघर्षों की कहानियाँ कहती है ये किताब

क्रेट के लिए ऑनलाइन आवेदन शुरू