in

इविवि में महामना की 9 फीट ऊंची प्रतिमा का हुआ अनावरण

आज इलाहाबाद विश्वविद्यालय में महामना की प्रतिमा स्थापित हो गई । 9 फीट ऊंची यह प्रतिमा कुलपति कार्यालय के पास लगी है। आज लग रहा है जैसे भारत रत्न मालवीय जी वापस अपने घर आ गए। मदन मोहन मालवीय इलाहाबाद विश्वविद्यालय के पुरा छात्र थे । यही से उनकी यात्रा आरंभ हुई थी। आज जहां उनकी प्रतिमा लगी है, छात्र जीवन में महामना जरूर ही यहां आस पास बैठे होंगे। आज वे हमारे बीच नहीं हैं पर उनकी कीर्ति अमर होकर हमारे बीच है।

इविवि में स्थापित महामना मदन मोहन मालवीय की प्रतिमा

अमर साहित्यकार प्रेमचंद की प्रतिमा के बाद इलाहाबाद विश्वविद्यालय में अब मालवीय जी की प्रतिमा भी लग गई। विश्वविद्यालय आने वाले हर छात्र के लिए ये दोनों विभूतियां प्रेरणा का कार्य करेंगी।

इस प्रतिमा की भी लंबी कहानी है। सालों तक किसी को यह याद भी नहीं रहा कि मदन मोहन मालवीय इलाहाबाद विश्वविद्यालय के पुरा छात्र थे । वर्ष 2018 में विश्वविद्यालय के हिंदी विभाग के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ चित्तरंजन कुमार ने सबसे पहले इसकी मांग उठाई थी । डॉ चितरंजन कुमार की स्नातक की शिक्षा मालवीय जी द्वारा स्थापित काशी हिंदू विश्वविद्यालय में हुई है। वे महामना मालवीय मिशन संस्था से भी जुड़े हुए हैं। इस संदर्भ में उन्होंने महामना के पौत्र और फिलहाल काशी हिंदू विश्वविद्यालय के चांसलर श्री गिरिधर मालवीय से भी कई बार भेंट की थी।

24 दिसंबर 2018 को डॉ चितरंजन कुमार ने इसके लिए तब के कुलपति प्रो रतन लाल हांगलू को ज्ञापन सौंपा था । प्रो हांगलू ने इस प्रतिमा हेतु तुरंत स्वीकृति प्रदान करते हुए लिखा कि ‘यह काम बहुत पहले हो जाना चाहिए था। एयू बीट मीडिया के पास वे सारे दस्तावेज उपलब्ध हैं। इलाहाबाद विश्वविद्यालय के समस्त छात्र इस मौके पर हर्ष व्यक्त करते हैं। हम विश्वविद्यालय प्रशासन और डॉ चितरंजन कुमार के इस कदम का स्वागत करते हैं।

मालवीय जी के जीवन था ध्येय था : –

न त्वहं कामये राज्यं न स्वर्गं नापुनर्भवम् ।
कामये दुःखतप्तानां प्रणिनां आर्तिनाशनम् ॥

अर्थात न ही मुझे राज्य चाहिए, न ही स्वर्ग का सुख और न ही मोक्ष चाहिए, मैं सभी प्राणी के कष्टों के निवारण में सहायक हो सकूँ यही इच्छा है !

उम्मीद है कि विश्वविद्यालय के छात्र महामना से प्रेरणा लेकर जीवन पथ पर अग्रसर होंगे । विश्वविद्यालय कैम्पस में महामना का स्वागत है।

Written by AU Beat Media

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Loading…

0

इलाहाबाद विश्वविद्यालय के छात्रों ने फूंका यूजीसी का पुतला, सात पर FIR

इविवि में अंतिम वर्ष के छात्रों को प्रमोट करने के लिए समाजवादी छात्रसभा के छात्रनेताओं का अनशन