in

प्रयागराज के बक्सी बांध पर दरोगा के बेटों ने दोस्तों संग किशोरी के साथ किया सामुहिक दुष्कर्म

कर्नलगंज में दरोगा के दो बेटों ने अपने तीन अन्य दोस्तों संग मिलकर किशोरी से सामूहिक दुष्कर्म किया। सूचना पर पुलिस पहुंची तो किशोरी जख्मी हाल में पड़ी मिली। पुलिस ने रात में ही दबिश देकर वारदात मेें शामिल पांचों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। इनमें किशोरी का फेसबुक दोस्त भी शामिल है जो उसे धोखे से बुलाकर ले गया था।

बांदा जिले की रहने वाली किशोरी पांच दिन पहले पिता के डांटने पर नाराज होकर घर से बिना बताए चली आई। यहां आकर वह अपने एक जानने वाले के घर ठहरी थी। बृहस्पतिवार के उसने कर्नलगंज निवासी फेसबुक दोस्त राहुल यादव को फोन कर अपने शहर में होने की जानकारी दी तो उसने उसे मिलने को बुलाया। जिसके बाद वह उसे लेकर संगम पहुंच गया। वहां से दो घंटे बाद वह किशोरी को लेकर कंपनी बाग पहुंचा।

कंपनी बाग में कुछ युवकों ने किशोरी के साथ छेडख़ानी की जिस पर दोनों वहां से भी चल दिए। आरोप हैकि काफी देर तक राहुल किशोरी को इधर उधर घुमाता रहा और फिर अंधेरा होने के बाद रात नौ बजे के करीब बख्शी बांध रोड पर पहुंच गया। कुछ देर बाद वहां उसके चार और साथी पहुंच गए और छेड़छाड़  शुरू कर दी। विरोध पर सभी ने मिलकर पीटा और इसके बाद जबरन किनारे की ओर खींचकर सामूहिक दुष्कर्म किया।

वारदात के बाद आरोपी धमकाते हुए भाग निकले। उनके जाने के बाद जख्मी हाल मेें किशोरी ने सूचना दी तो पहले 112 नंबर व फिर कर्नलगंज पुलिस पहुंची और उसे लेकर थाने पहुंची। प्रकरण की जानकारी के बाद इंस्पेक्टर अरुण कुमार त्यागी ने रात में ही दबिश देकर भारद्वाज आश्रम के पास रहने वाले राहुल को हिरासत में ले लिया। उससे पूछताछ में पता चला कि वारदात में उसके दोस्त अमित, दिव्यांशु, हिमांशु व विकास मौर्य निवासी जार्जटाउन शामिल थे। जिसके बाद उन्हें भी पकड़ लिया गया। यह भी पता चला कि आरोपी दिव्यांशु व हिमांशु सगे भाई हैं और उनका पिता पुलिस विभाग में दरोगा हैं जिनकी तैनाती जनपद में ही है। पुलिस ने बताया कि शुक्रवार को पीड़ित किशोरी का मेडिकल टेस्ट कराया गया।

Written by AU Beat Media

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Loading…

0

NSUI द्वारा चलाया गया #SpeakUpForStudents को मिला छात्रों का ऐतिहासिक समर्थन

केजरीवाल ने किया मोदी से गुहार, केंद्रीय विश्वविद्यालयों की परीक्षा रद्द कर प्रमोट करें