in

गुरुवार को प्रयागराज में मिले 52 कोरोना मरीज़, फिर भी इविवि परीक्षा कराने पर अड़ा

इलाहाबाद विश्वविद्यालय एवं संबद्ध कॉलेजों में स्नातक और परास्नातक के अंतिम वर्ष की परीक्षाएं 17 अगस्त से कराने की तैयारी है। 8 जुलाई, बुधवार को परीक्षा नियंत्रक प्रो. रमेंद्र कुमार सिंह ने कुलपति प्रो. आरआर तिवारी के संग बैठक पर अंतिम वर्ष की परीक्षा कराने का यह निर्णय लिया। अब अगले दिन 9 जुलाई, गुरुवार को ही एक दिन में कोरोना वायरस के रिकार्ड 52 मरीज मिले और 10 जुलाई, शुक्रवार को 49 मरीज मिले। इसमें खास बात यह है कि ये सभी मरीज शहरी क्षेत्र के रहने वाले हैं। पॉजिटिव पाए गए लोगों में एसआरएन के जूनियर डॉक्टर, पुलिस लाइंस कैंपस में रहने वाला एक पुलिस कर्मी व रेलवे के भी कुछ कर्मचारी शामिल हैं, सिर्फ नौ दिनों में ही प्रयागराज में कोरोना वायरस से संक्रमित 250 मरीज मिल चुके हैं साथ ही कुल संक्रमितों की संख्या 550 पार हो चुकी है। इन आंकड़ों को बताकर हम आपको दहशत में कतई नहीं लाना चाहते हैं। बल्कि यह बताना चाहते हैं कि ऐसे में अगर हम सावधानी नहीं बरतें तो संक्रमित हो सकते हैं।

छात्र कर रहें है UGC से परीक्षा ना कराने की मांग:
छात्रों का कहना है कि कोरोना काल में सरकार उनके जिंदगी के साथ खेलवाड़ कर रही है। छात्रों द्वारा सोशल मीडिया पर हैजटैग मुहिम चलाया जा रहा है। इलाहाबाद विश्वविद्यालय के आखिरी वर्ष के छात्रों की मांग है उन्हें प्रोमोट किया जाये।

बता दें कि इलाहाबाद विश्वविद्यालय प्रशासन ने स्नातक अंतिम वर्ष की परीक्षा 17 अगस्त से 30 सितंबर के मध्य संपन्न कराने की रूपरेखा तैयार कर ली गई है। इसके साथ ही बैठक में यह भी चर्चा हुई कि प्रथम, द्वितीय वर्ष के छात्रों को सीधे अगली कक्षा में प्रोन्नत कर दिया जाएगा। शीतकालीन अवकाश (15 दिसंबर के बाद) में इन छात्रों की परीक्षा कराने की तैयारी चल रही है।

Written by AU Beat Media

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Loading…

0

इलाहाबाद विवि छात्रावास खाली करने के विरोध में छात्रों ने कुलपति कार्यालय का किया घेराव

यूपी के राज्य विश्वविद्यालयों और कॉलेजों की फाइनल ईयर परीक्षाएं सितंबर तक