in

इलाहाबाद विश्वविद्यालय में ऑनलाइन कक्षाओं से होगी नए सत्र की शुरुआत

प्रयागराज। इलाहाबाद विश्वविद्यालय (इविवि) और 11 संघटक महाविद्यालयों में नए सत्र की शुरुआत 17 अगस्त से ऑनलाइन कक्षाओं के साथ होगी। यह निर्णय कुलपति प्रो. आरआर तिवारी की अध्यक्षता में हुई सभी संकायों के डीन की बैठक में लिया गया। इस व्यवस्था के लागू होने सत्र को पिछड़ने से रोका जा सकता है। ऑनलाइन पढ़ाई के लिए सभी विभागाध्यक्षों को टाइम टेबल तैयार करने के निर्देश दिए गए हैं।

कोरोना महामारी के दौर में ऑनलाइन कक्षाओं के संचालन का निर्णय:

बैठक में निर्णय लिया गया कि सभी विभागाध्यक्ष टाइम टेबल तैयार कर 15 जुलाई तक इसकी घोषणा कर देंगे। टाइम टेबल तैयार करने और कक्षाओं के संचालन में सभी जेआरएफ, एसआरएफ, पोस्ट डॉक्टोरल और रिसर्च स्कॉलर्स का भी सहयोग लिया जाएगा। इसके अलावा सभी विभागों को पुराने छात्र-छात्राओं (स्नातक द्वितीय एवं तृतीय वर्ष और परास्नातक द्वितीय वर्ष) से संबंधित डाटा भी इकट्ठा करना होगा, जिसमें उनके ईमेल आईडी और फोन नंबर की जानकारी होगी। विभागों को यह डाटा 15 जुलाई तक कुलपति कार्यालय को उपलब्ध करना होगा। साथ ही सभी शिक्षकों यानी फैकल्टी मेंबर्स, जेआरएफ, एसआरएफ, पोस्ट डॉक्टोरल्स, रिसर्च स्कॉलर्स को कुछ लेक्चर और नोट्स 31 जुलाई तक ऑनलाइन अपलोड कर देने है।

Learning in the 21st Century by Hon’ble Vice-Chancellor Prof. R.R Tewari

लेक्चर, नोट्स, पाठ्यक्रम आदि विश्वविद्यालय के लर्निंग ‘मैनेजमेंट पोर्टल’ पर भी अपलोड किए जाने हैं। बैठक में यह चर्चा भी हुई कि प्रथम वर्ष और प्रथम सेमेस्टर की प्रवेश प्रक्रिया चल रही है। ऐसे में प्रथम वर्ष और प्रथम सेमेस्टर की ऑनलाइन कक्षाएं प्रवेश प्रक्रिया पूरी होने के बाद ही शुरू की जा सकती हैं, लेकिन बाकी सभी पुराने छात्र-छात्राओं की ऑनलाइन कक्षाएं 17 अगस्त से शुरू कर दी जाएंगी। इविवि के पीआरओ डॉ. शैलेंद्र कुमार मिश्र का कहना है कि इस व्यवस्था से छात्र-छात्राओं को काफी फायदा, कोर्स समय से पूरा होगा और सत्र को पिछड़ने से भी रोका जा सकेगा।
रिटायर शिक्षकों से भी ली जाएगी मदद
ऑनलाइन शिक्षा में रिटायर शिक्षकों से भी मदद ली जाएगी। बैठक में चर्चा हुई कि इविवि के तमाम अच्छे शिक्षक रिटायर हो चुके हैं। इनमें से कई शिक्षकों की सेहत ठीक है और वे शहर में उपलब्ध हैं। संकट के इस दौर में गुणवत्तापूर्ण ऑनलाइन पढ़ाई के लिए उनकी मदद भी ली जा सकती है। विभागाध्यक्षों से कहा गया है कि वे ऐसे शिक्षकों से संपर्क करें और इविवि की मदद करने के लिए इन शिक्षकों से आग्रह करें।
ऑनलाइन कक्षाओं में शामिल होंगे 55 हजार विद्यार्थी

  • ऑनलाइन कक्षाओं में इलाहाबाद विश्वविद्यालय एवं 11 संघटक महाविद्यालयों के 55 हजार विद्यार्थी शामिल होंगे। इनमें से इलाहाबाद विश्वविद्यालय में ही 30 हजार विद्यार्थी हैं। इविवि में चार संकायों में कुल 34 विभाग और 11 सेंटर है, जिनसे 315 स्थायी शिक्षक जुड़े हुए हैं।
    सभी कॉलेजों को भेजा गया पत्र
  • कुलपति की अध्यक्षता में हुई बैठक में जो भी निर्णय लिए गए, उनके बारे में संघटक महाविद्यालयों को भी पत्र भेजकर अवगत करा दिया गया है। ऑनलाइन कक्षाओं के के लिए निर्धारित किए गए कार्यक्रम के अनुरूप ही महाविद्यालयों को भी टाइम टेबल तैयार करना है, छात्र-छात्राओं के मोबाइल फोन एवं ईमेल आईडी की जानकारी जुटानी है और तय समय पर ऑनलाइन कक्षाओं का संचालन शुरू करना है। कॉलेज इसकी रिपोर्ट डीन कॉलेज डेवपलमेंट को देंगे।

-इविवि के विभागाध्यक्षों को 15 जुलाई तक टाइम टेबल तैयार करने के निर्देश

-पुराने छात्र-छात्राओं की 17 अगस्त से ऑनलाइन कक्षाएं शुरू करने का निर्णय

-प्रवेश प्रक्रिया पूरी होने के बाद नए छात्र-छात्राओं के लिए भी ऑनलाइन कक्षाए

-11 संघटक कॉलेजों में भी लागू होगी नई व्यवस्था

-04 संकाय के 34 पाठ्यक्रमों में ऑनलाइन कक्षाएं

-15 सेंटर में बंद पड़े चार को छोड़ सभी हुए ऑनलाइन

-315 शिक्षकों के भरोसे ऑनलाइन कक्षाओं का संचालन

 

Written by AU Beat Media

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Loading…

0

UGC द्वारा परीक्षा कराने के निर्णय पर भड़के छात्र, प्रमोट करने की मांग जारी – AU Beat

इविवि में 17 अगस्त से अंतिम वर्ष की परीक्षा की तैयारी, प्रथम व द्वितीय वर्ष के छात्र होंगे प्रमोट