in

UGC द्वारा आज फैसला होगा कि विश्वविद्यालय व कॉलेजों में परीक्षा होंगे या नही

University Exams UGC Guidelines 2020: आज विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ( यूजीसी – UGC ) विभिन्न कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में परीक्षाओं के आयोजन को लेकर नई गाइडलाइंस जारी कर सकता है। कुछ दिनों पहले केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने यूजीसी से कहा था कि परीक्षा आयोजित करने तथा नया शैक्षणिक सत्र शुरू करने को लेकर उसने जो दिशा-निर्देश जारी किए हैं, उन पर वह फिर से विचार करे। विश्वविद्यालयों के छात्र, उनके अभिभावक और शिक्षक पिछले कुछ दिनों से लगातार सोशल मीडिया पर परीक्षाएं रद्द करने की मांग कर रहे हैं। उनका कहना है कि बढ़ते कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों की स्थिति में स्टूडेंट्स की लाइफ को संकट में नहीं डाला जा सकता।

आपको बतादें कि यूजीसी ने मई 2020 में यूनिवर्सिटी की फाइनल परीक्षाओं के लिए नई गाइड लाइन्स जारी की थी. जिसमें कॉलेजों ओर विश्वविद्यालयों को निर्देश दिया गया था कि वे फाइनल ईयर/ सेमेस्टर की परीक्षाओं को आयोजित करवाएं. इसके अलावा अन्य स्टूडेंट्स को पहले की परीक्षा के आधार पर अगली कक्षा में प्रमोट किया जाए।

महाराष्ट्र, ओडिशा, मध्यप्रदेश और हरियाणा में यूनिवर्सिटी की फाइनल ईयर की परीक्षायें पहले ही हो चुकीं है स्थगित:
महाराष्ट्र, ओडिशा, मध्यप्रदेश और हरियाणा द्वारा यूनिवर्सिटी की फाइनल ईयर की परीक्षायें स्थगित करने का फैसला लिया जा चुका है. वहीं पंजाब ने भी सभी विश्वविद्यालय की परीक्षाएं 15 जुलाई तक स्‍थगित करने का ऐलान किया है. बाकी राज्यों में होने वाली परीक्षायें आज के यूजीसी (University Grants Commission) फैसले पर निर्धारित है.

उत्तर प्रदेश की 18 यूनिवर्सिटी और कॉलेजेस के 48 लाख से अधिक विद्यार्थियों पर होगा इसका असर होगा:
उत्तर प्रदेश के यूनिवर्सिटी और डिग्री कॉलेजों की अंडर ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट की परीक्षाएं होंगी या नहीं इसका फैसला कल यानी 2 जुलाई को होना है। उत्तर प्रदेश की 18 यूनिवर्सिटी और कॉलेजेस के 48 लाख से अधिक विद्यार्थियों पर होगा इसका असर होगा। उच्च शिक्षा विभाग ने कोरोना संकट के दौरान यूनिवर्सिटी की परीक्षाओं के आयोजन के लिए चार सदस्यीय समित गठित की थी। समिति ने अपनी रिपोर्ट उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा को सौंपते हुए दूसरे प्रदेशों की तर्ज पर यूपी में भी परीक्षायें नहीं कराने और विद्यार्थियों को बिना परीक्षा के प्रोन्नत करने का सुझाव दिया था। अगर आज यूजीसी की गाइडलाइंस आज आ जाती है तो योगी सरकार कल 2 जुलाई को अंतिम फैसला लेते समय इन गाइडलाइंस पर भी विचार करेगी।

 

 

Written by AU Beat Media

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Loading…

0

जानिए क्यों कहते है प्रयागराज के नैनी ब्रिज को ‘शापित ब्रिज’

जानिए अपने शहर प्रयागराज (इलाहाबाद) के बारे में..